मोदी के संबोधन पर कांग्रेस बोली- लॉकडाउन बढ़ाना ठीक, लेकिन आर्थिक पैकेज का क्या?

मोदी के संबोधन पर कांग्रेस बोली- लॉकडाउन बढ़ाना ठीक, लेकिन आर्थिक पैकेज का क्या?

 

कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए देश में लॉकडाउन की मियाद को बढ़ा दिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित कर जानकारी दी कि अब तीन मई तक लॉकडाउन लागू रहेगा, जिसमें लोगों को अनुशासन का पालन करना होगा. इस पर अब विपक्षी पार्टियों की प्रतिक्रिया आने लगी है, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने लॉकडाउन के फैसले की तारीफ तो की है लेकिन उन्होंने आर्थिक पैकेज का ऐलान नहीं होने पर सवाल खड़े किए हैं.

 

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने आजतक से बात करते हुए कहा कि लोगों में पहले से एक संदेश था कि लॉकडाउन बढ़ेगा, इसमें कुछ नई बात नहीं है. देश के लिए लॉकडाउन बढ़ाना जरूरी है, देश को बचाना सबसे जरूरी है.

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री की ओर से गरीब-पिछड़े वर्ग के लोगों के बारे में सोचा जाना चाहिए था, छोटे उद्योगों को राहत देनी चाहिए थी. उद्योगपतियों की मांग है कि आर्थिक पैकेज का ऐलान किया जाए. सरकार आर्थिक पैकेज में इतनी देरी क्यों कर रही है.

 

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी की ओर से भी लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर प्रतिक्रिया दी गई, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की तारीफ तो की लेकिन आर्थिक पैकेज का मुद्दा भी उठाया.

 

अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्विटर पर लिखा कि प्रधानमंत्री का भाषण प्रेरणादायी था, लेकिन किसी आर्थिक पैकेज का ऐलान नहीं, किसी सटीक जानकारी नहीं. ना ही गरीब-ना मिडिल क्लास और ना ही कारोबारियों के लिए कुछ ऐलान किया गया, लॉकडाउन सही है लेकिन लोगों के जीवनयापन का क्या.

 

गौरतलब है कि देश में 25 मार्च के बाद से ही लॉकडाउन लागू है, पहले इसकी अवधि 14 अप्रैल तक थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है. कांग्रेस पार्टी की ओर से लगातार अपील की जा रही है कि सरकार को गरीबों के लिए आर्थिक पैकेज का ऐलान करना चाहिए, ताकि जिन लोगों का कामकाज अभी छूटा हुआ है उन्हें भोजन में कोई कमी ना आए.

error: Content is protected !!