मुख्यमंत्री ने 10 लाख 48 हजार 66 श्रमिक परिवारों के खातों में रू 1000/- प्रति परिवार की दर से 104 करोड़ 82 लाख रुपए का ऑनलाइन किया हस्तांतरण।

मुख्यमंत्री ने 10 लाख 48 हजार 66 श्रमिक परिवारों के खातों में रू 1000/- प्रति परिवार की दर से 104 करोड़ 82 लाख रुपए का ऑनलाइन किया हस्तांतरण।

 

वाराणसी से संजीव त्रिपाठी की रिपोर्ट।

 

वाराणसी के 5460 कामगार श्रमिकों के खातों में भरण-पोषण भत्ता के रूप में पहुंचा पैसा।

 

वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान अन्य प्रदेशों में रह रहे वहां से लौट कर आए सभी कामगार एवं श्रमिकों को बिना विलंब किए तत्काल राशन कार्ड उपलब्ध कराए जाने का निर्देश दिया है। राशन कार्ड उपलब्ध कराए जाने के लिए उन्होंने किसी भी दशा में दो माह का इंतजार न किए जाने पर विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि सभी कामगार एवं श्रमिकों को तत्काल राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाए। ताकि सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान से उन्हें हर महीने राशन उपलब्ध हो सके।

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को 10 लाख 48 हजार 66 श्रमिक परिवारों के खातों में रू 1000/- प्रति परिवार की दर से 104 करोड़ 82 लाख रुपए का ऑनलाइन हस्तांतरण किये जाने के अवसर पर कामगार श्रमिकों से सीधे संवाद कर रहे थे। वाराणसी के 5460 कामगार श्रमिकों के खाते में भरण पोषण भत्ता की धनराशि ऑनलाइन हस्तांतरण किए जाने के दौरान मुख्यमंत्री ने सूरत में एंब्रॉयडरी का कार्य करने वाले वाराणसी के जाल्हूपुर निवासी ज्ञान सिंह से उनका नाम पूछते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीधा संवाद किया। मुख्यमंत्री ने पूछा कि सूरत में क्या काम करते थे, ज्ञान सिंह-एंब्रॉयडरी का काम करते थे।मुख्यमंत्री- बहुत सुंदर। फिर मुख्यमंत्री ने ज्ञान सिंह से पूछा कि यहां आने पर राशन मिला, जवाब में उन्होंने बताया कि हां राशन मिला था। मुख्यमंत्री ने कहा कि ठीक है फिर भी आपके खाते में रू 1000/- जा रहा हैं। इसके लिए ज्ञान सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया।

 

तत्पश्चात मुख्यमंत्री ने चोलापुर की कटारी की रहने वाली सरिता से उनका कुशलक्षेम पूछने के दौरान राशन कार्ड बनने की जानकारी ली। पुनः मुख्यमंत्री ने सुनीता, ज्ञान सिंह सहित मौके पर उपस्थित अन्य कामगार श्रमिकों को संबोधित करते हुए कहा कि आपका राशन कार्ड भी बनेगा, बनवा लीजिए हर महीने राशन भी मिलेगा।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा से पूछा कि सभी प्रवासी कामगार का राशन कार्ड है कि नहीं। जिलाधिकारी ने बताया कि राशन कार्ड के लिए 10 हजार लोगों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है और राशन कार्ड बनना शुरू हो गया हैं। शीघ्र ही सभी लोगों को राशन कार्ड उपलब्ध करा दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया सभी कामगार श्रमिकों को राशन कार्ड उपलब्ध कराकर उन्हें राशन मुहैया कराया जाय। इसमें कत्तई विलंब अथवा इन्तेजार न किया जाय।

error: Content is protected !!