जे.पी.अंदोलन की उपज व सबसे शिक्षित छपरा विधानसभा के प्रत्याशी होगें रामायण सिंह जीवनदानी

जे.पी.अंदोलन की उपज व सबसे शिक्षित छपरा विधानसभा के प्रत्याशी होगें रामायण सिंह जीवनदानी

 

सारण– हंसुआ हथौड़ी वाले अब हांथी की करेंगे सवारी। जी हाँ वामपंथ के समर्थक रहे जेपी के सम्पूर्ण क्रांति के सिपाही जेपी सेनानी रामायण सिंह जीवनदानी छपरा विधान सभा से चुनाव लड़ेंगे। इसकी घोषणा एक प्रेस वार्ता के जरिये करते हुए अपनी प्राथमिकताओं को भी गिनाया। इस अवसर पर दर्जनों जेपी सेनानी एवं समर्थक उपस्थित थे। उन्होने कहा कि हम जेपी के अनुयायी है और जयप्रकाश नारायण कहते थे कि हमारी लड़ाई समाज के अंतिम व्यक्ति के लिए है़। उन्होने कहा कि चुनाव जीतने के बाद सर्वप्रथम क्षेत्रीय मुद्दे पर सुधार एवं सामाजिक विकास के लिए कार्य करेंगे। रिविलगंज प्रखंड के सिताब दियारा को रिविलगंज से सीधा जोड़ने की सरयू नदी में लचका पुल , छपरा – रिविलगंज के धरोहर सरयू नदी की शोभा एवं देश के संस्कृति को स्थापित करने तथा सोंधी नदी एवं तेल नदी को आपस में जोड़कर किसानों की भूमि सिंचाई में मदद प्राथमिकताओ में है। महिलाओं एवं नव जवानों को रोजगार से जोड़कर बेरोजगारी की समस्या से निजात दिलाया जाएगा। एक सवाल के जवाब में जीवनदानी जी ने बसपा पार्टी के टिकट पर विधान सभा चुनाव लड़ने की संभावना व्यक्त की । जीवनदानी सबसे पहले 1977 में विधान सभा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ा था। लेकिन उस समय चुनाव में पराजय मिली थी। उसके बाद भी 1980 में लोक सभा एवं विधान सभा का चुनाव भी लड़ा था लेकिन जीत नही मिली। गरीब असहाय लोगो की मदद करना उनके हक हकूक के लिए लड़ना रामायण जीवनदानी के स्वभाव में शामिल है।मौके पर देवेन्रदर राम, सियाराम सिंह, सुनिल राय, अनिल राम, सवलिया गिरी शंकर राय, शिव दयाल यादव अनिल रामआदि उपस्थित थे।

error: Content is protected !!