भागलपुर अब चार सेकेंड में मिलेगी कोरोना, निमोनिया व टीबी की रिपोर्ट, भागलपुर ट्रिपल आइटी ने की खोज

भागलपुर अब चार सेकेंड में मिलेगी कोरोना, निमोनिया व टीबी की रिपोर्ट, भागलपुर ट्रिपल आइटी ने की खोज

 

भागलपुर: कोविड-19 महामारी के उन्मूलन के लिए चल रहे वैश्विक प्रयास में भागलपुर स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (ट्रिपल आइटी) के वैज्ञानिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रहे हैं. दरअसल ट्रिपल आइटी ने एक्स-रे और सिटी स्कैन के इमेज को देख कर कोविड पॉजिटिव व निगेटिव रिपोर्ट देने वाला सॉफ्टवेयर तैयार किया है. दो माह पहले इस सॉफ्टवेयर को स्वास्थ्य मंत्रालय के पास स्वीकृति के लिए भेजा गया था. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस सॉफ्टवेयर की जांच की जिम्मेदारी इंडियन मेडिकल रिसर्च काउंसिल नयी दिल्ली (आइसीएमआर) को सौंपी थी. आइसीएमआर ने सॉफ्टवेयर की जांच के बाद इसको स्वीकृति दे दी है.

मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने रविवार को एक ट्विट कर इसकी जानकारी दी।

भागलपुर समेत देश के सभी ट्रिपल आइटी का संचालन करने वाले केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने रविवार को एक ट्विट कर इसकी जानकारी दी. मंत्री ने अपने ट्विट में ट्रिपल आइटी के निदेशक को बधाई देते हुए कहा कि सॉफ्टवेयर की सहायता से कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच होगी. ट्रिपल आइटी के निदेशक प्रो अरविंद चौबे ने बताया कि मंगलवार तक इस सॉफ्टवेयर के अप्रूवल का सर्टिफिकेट जारी करेगा. इसके बाद सॉफ्टवेयर की लांचिंग के लिए चेन्नई की एक आइटी कंपनी को ट्रिपल आइटी भागलपुर की तरफ से व्यावसायिक प्रयोग के लिए लाइसेंस दिया जायेगा ।

error: Content is protected !!