सीपीआई सारण ने बाढ़ व कोरोना काल में सरकार की लापरवाही के खिलाफ निकाला आक्रोश मार्च।

सीपीआई सारण ने बाढ़ व कोरोना काल में सरकार की लापरवाही के खिलाफ निकाला आक्रोश मार्च।

आज दिनांक 01 सितम्बर 2020 को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) सारण जिला इकाई ने सारण बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाने, उनके क्षतिग्रस्त फसलों का मुआवजा देने, उनके सभी किस्म के कर्जों को माफ करने,बाढ़ के स्थायी निदान करने, सामुदायिक भोजनालय की व्यवस्था करने, बाढ़ पीड़ितों के खातों में दस हजार रुपए डालने, बाढ़ में जो लोग गृह विहिन हो गये हैं उनका घर बनवाने, राशन-किरासन के नियमित व्यवस्था करने, कोविड- 19 के अस्पतालों एवं क्वारंटाईन केन्द्रों में कुव्यवस्था दूर करने, आदि मांगों के समर्थन में राज्य पार्टी के आह्वान पर धरना- प्रदर्शन का आयोजन सामाजिक दूरी बनाए रखे हुए किया गया और सारण डीएम को नौ सूत्री मांगों को समर्थित ज्ञापन सौंपा गया।

धरना को संबोधित करते भाकपा जिला सचिव रामबाबू सिंह ने कहा कि कोरोना संकट से जूझ रहे लोगों को बाढ़ का कहर और ज्यादा बर्बाद कर दिया है और सरकार बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाने में अब तक विफल रही है। उन्होंने कहा कि समय रहते यदि बाढ़ पीड़ितों को राहत नहीं पहुंचाया गया तो भाकवा उग्र रूप से आंदोलन को तेज करेगी। जिसकी पुरी जवाबदेही सरकार की होगी।

जिन लोगों ने सभा को संबोधित किया उनमें जिला सचिव रामबाबू सिंह के अलावा चुल्हन प्रसाद सिंह, नागेन्द्र राय, डाॅ. केएन सिंह, सुरेंद्रनाथ त्रिपाठी, परमात्मा प्र.गुप्ता, छात्रनेता राहुल कुमार यादव, अमनौर सचिव अवधेश राय, सुग्रीव गुप्ता, शिवशंकर, सुरेश वर्मा, हरिबल्भ सिंह, महेंद्र प्रभाकर, जमादार राय,सचितानंद राय, अमन कुमार, देवेन्द्र सिंह, अमित नयन, दिलिप वर्मा, जवाहर मिश्रा, अमन अंशू यादव, अमित कुमार, आदि मौजूद थे।

अंत में जिला सचिव रामबाबू सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने सारण समाहर्ता को एक मांग पत्र सौंपा।

 

संवाददाता कुमार बबलू

error: Content is protected !!