उद्घाटन से पहले ही टूट गया किशनगंज का पुल, ग्रामीणों ने कहा- पुल बनाने वाले पी गए सारा माल 

उद्घाटन से पहले ही टूट गया किशनगंज का पुल, ग्रामीणों ने कहा- पुल बनाने वाले पी गए सारा माल 

बिहार विधानसबा चुनाव से पहले उद्घाटन का दौर दनादन जारी है लेकिन इस बीच किशनगंज से आई खबर ने विपक्ष को बिहार सरकार पर हमला करने का नया मुद्दा दे दिया है.  किशनगंज  में एक निर्माणाधीन पुल बह गया है. यह मामला दिघलबैंक प्रखंड के पथरघट्टी पंचायत का है.  यहां गोवाबाड़ी में 1 करोड़ 42 लाख की लागत से बर रहा गोवाबाड़ी पुल बह गया है. इस इलाके के लोग फिलहाल बाढ़  की विभीषिका झेल रहे हैं.जानकारी के मुताबिर पथरघट्टी के ग्वालटोली के पास कनकई नदी का बहाव तेज हो गया है. जिसके कारण कच्ची सड़क तेजी से कटती गई.  बताया जाता है कि अब पुल के एक हिस्से के धंस जाने से उधर का पूरा इलाका टापू की शक्ल ले चुका है. ये पुल बनकर तैयार था लेकिन 20 मीटर डायवर्सन को नहीं बांधने के कारण करोड़ों का नुकसान हो गया. इस पुल के टूटने के बाद स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुल निर्माण में अनियमितता बरती गई है. इसके साथ ही उनका कहना है कि संवेदक और अभियंता ने नियमों को ताक पर रख कर पुल निर्माण कार्य किया है. ग्रामीणों के इस बयान के बाद मामले की लीपापोती करने का काम शुरू हो चुका है. अब ग्रामीणों की मांग है कि इस मामले में जांच करके दोषियों पर कार्रवाई की जाए. किशनगंज में इस पुल के टुटने के बाद से ही अब सियासी घमासान होना तय है.

error: Content is protected !!