धरहरा मही नदी में डूबने से एक 45 वर्षीय राजयमिस्त्री की हुई मौत,घटना को सुन नदी किनारे लोगो की उमरी भारी भीड़ ।

अमनौर(सारण)प्रखण्ड के धरहरा पंचायत स्थित धरहरा खुर्द के मही नदी में डूबने से एक 45 वर्षीय ब्यक्ति की मौत हो गई।घटना सोमवार दिन दो बजे की है।डूबने की खबर गांँव में आग की तरह फैल गई। नदी किनारे देखने के लिए लोगो की भारी भीड़ उमर पड़ी लेकिन किसी व्यक्ति ने हिम्मत नही जुटा पाया कि नदी में कूदकर मृतक के शव निकाल सके।घण्टो बाद घटना को सुन मौके पर बीडीओ मंजूल मनोहर मधुप,अमनौर थाना अध्यक्ष सुजीत कुमार चौधरी मौके पर पहुँच मामले का संज्ञान लिया,तथा गोताखोर को बुलवाया। नदी में पानी उफान होने से काफी मसक्कत के बाद भी गोताखोरो ने मृतक के शव नदी से नही निकल पाया।शव की तलासी जारी है।मृतक व्यक्ति धरहरा कला गांव के बैजनाथ लाल खत्री के 45 वर्षीय पुत्र मदन लाल खत्री बताया जाता है।जो राज मिस्त्री का काम करके घर परिवार चलाता था।घटना के सम्बंध में प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि मृतक नदी किनारे आये पहले कुल्ला कलाली किये ,फिर स्नान करने के लिए नदी में प्रवेश करना चाहा तबतक उनका पैर फिसल गया वे बीच धारा में चले गए। इनको तैरने नही आता था।पानी अधिक होने के कारण एक बार नीचे से ऊपर आये फिर दुबारा नीचे जाने के बाद दिखे नही।स्थानी ग्रामीण नदी में डूबते देख हो हल्ला किया। ग्रामीणों की काफी संख्या जुट गई पर किसी की हिम्मत नही हुई कि पानी मे कूदकर उनके शव को निकाल सके।प्रशासन के आने के बाद गोताखोरों ने पानी मे शव ढूँढ़ते रहे घण्टो बाद भी पानी से शव नही मिल पाया है।मृतक चार भाई दो बहन था।अभी तक शादी नही हुई थी।इनके मौत से बृद्ध माता सरस्वती देवी पिता बैजनाथ लाल व परिजनों ने नदी किनार चीत्कार मार मार कर रो रहे थे। लोग ढाढस बांँध रहे थे।इनके चीत्कार से लोगो के आँखों में आंसू टपक पड़े।नदी किनारे हजारो लोगो की भीड़ उमड़ी हुई थी।अब शव निकलेगा अब निकलेगा संध्या तक गोताखोरों ने शव ढूँढने का प्रयास किया पर असफल दिखे।समाचार लिखे जाने तक प्रशासन व लोगो की भीड़ बनी रही।

अमनौर से आनंद कुमार राय की रिपोर्ट

error: Content is protected !!