Big Gift : नितीश सरकार ने महिला पुलिसकर्मियों को दी बड़ी गिफ्ट, सभी थानों में स्कूटी के लिए दिए 5 करोड़ का फंड

बिहार में महिला पुलिसकर्मियों के लिए खुशखबरी है, वह अब जल्द ही स्कूटी पर नजर आएंगी। क्योंकि राज्य सरकार बिहार के सभी पुलिस स्टेशन में विशेष हेल्प डेस्क पर तैनात महिला पुलिसकर्मियों को स्कूटी देने जा रही है। जिससे क्राइम होने पर जल्द से जल्द टनास्थल पर पहुंचा जा सके।दरअसल, बिहार में लगातार क्राइम के मामले बढ़ रहे हैं। सुशासन बाबू से पहचान बनाने वाले सीएम नीतीश कुमार भी इस पर अंकुश लगाने में कामयाब नहीं हो सके हैं। इसलिए राज्य सरकार महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों पर लगाम लगाने के लिए इस नई पहल की शुरूआत करने जा रही है। जिसके तहत ही महिला पुलिसकर्मियों को स्कूटी देने का फैसला किया गया है।बता दें कि महिला पुलिसकर्मियों को स्कूटी देने का फैसला करने वाली खबर सबसे पहले बिहार के सीनियम मंत्री संजय कुमार झा ने ट्वीट कर बताई है। इस योजना की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के विजन से प्रेरित एक और महत्वपूर्ण पहल शुरू की जा रही है। जिससे जल्द महिला पुलिसकर्मी स्कूटी पर नजर आएंगी। बिहार सरकार ने स्कूटी देने के लिए पहले चरण में राज्य के 500 थानों चयन किया है। जहां हर थाने पर हेल्पडेस्क बनाने के लिए 1 लाख रुपए दिए जा रहे हैं। यह रकम बिहार सरकार के द्वारा बनाए गए निर्भया फंड से दी जा रही है। वहीं योजना के लिए सरकार ने 5 करोड़ रुपए दिए हैं। पुलिस मुख्यालय के मुताबिक हेल्प डेस्क पर महिला सब इंस्पेक्टर और महिला कॉन्स्टेबल तैनात रहेंगी। बिहार में कुल 1196 पुलिस स्टेशन हैं। 500 के अलावा बचे हुए थानों को दूसरे चरण में योजना से जोड़ा जाएगा।जानकारी के अनुसार मुंगेर पुलिस ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है। मुंगेर जिले में महिला पुलिस को बाइक-स्कूटी उपलब्ध किया जा रहा है। इसका नाम महिला टाइगर दल होगा। पहले फेज में यह शहर में लागू होगा, इसके बाद अनुमंडलों में। पुलिस कप्तान जग्गुनाथ रेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि महिला टाइगर दल का गठन होगा। उन्हें स्कूटी मुहैया कराई जाएगी। इस संबंध में मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि शहर में गश्ती दल को पूरी तरह सक्रिय करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है।छोटी-बड़ी घटनाओं को लेकर पुलिस अधिक गंभीर हो रही है। इस दिशा में एक कदम और बढ़ाते हुए अब जिलों की महिला पुलिस स्कूटी पर गश्त करती नजर आएंगी। स्कूटी मिलने के बाद महिलाओं को गली-गली पेट्रोलिंग करने में परेशानी नहीं होगी। तंग गलियों और मुहल्लों में पेट्रोलिंग काफी हद सुधर जाएगी। पेट्रालिंग बढ़ने से गली-मुहल्लों के बदमाशों की शामत आएगी। अपराध नियंत्रण पर भी इसका असर देखने को मिलेगा। महिला-पुरुष बल को विशेष ट्रेनिंग दिया जा रहा है। ट्रेनिंग के दौरान कई तरह की पुलिसिया टिप्स दिए जा रहे हैं। अपराध नियंत्रण का गुर सिखाया जा रहा है। ट्रेनिंग समाप्त होने के बाद सभी की विशेष टास्क के तहत तैनाती की जाएगी। कालेज, स्कूल, प्रमुख इलाकों में लगाया जाएगा। पुलिस कप्तान जग्गुनाथ रेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि नव वर्ष में जिले की पुलिसिंग को बेहतर और माडल बनाने के लिए कवायद की जा रही है। जिले में अपराध नियंत्रण और सभी की सुरक्षा को लेकर पुलिस एक्टिव मोड में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!