वाल्मीकिनगर बराज से छोड़ा गया 3 लाख क्यूसेक पानी, इन जिलों में बाढ़ का खतरा

 वाल्मीकिनगर बराज से छोड़ा गया 3 लाख क्यूसेक पानी, इन जिलों में बाढ़ का खतरा

 

🔶 जलस्तर में वृद्धि के बाद बगहा, बेतिया और गोपालगंज की बड़ी आबादी प्रभावित होगी.

BAGAHA : वाल्मीकिनगर बराजा से एक बार फिर 3 लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़ा गया है. जिसके कारण गंडक नदी उफान पर हो गई है. इससे पश्चिम चंपारण और गोपालगंज समेत कई जिलों में बाढ़ का खतरा फिर से मंडराने लगा है. बराजा से पानी छोड़े जाने के बाद गंडक नदी के जलदर्ज़ के बाद उत्तर बिहार में फिर बाढ़ की स्थिति बन गई हैं. गंडक नदी में 3 लाख 14 हज़ार क्यूसेक का बहाव हो रहा है. जो वाल्मीकिनगर बराज पर जलस्तर में वृद्धि दर्ज की गई हैं. नेपाल के तराई क्षेत्रों में बारिश के बाद फिर बाढ़ का खतरा बढ़ गया है. जलस्तर में वृद्धि के बाद बगहा, बेतिया और गोपालगंज की बड़ी आबादी प्रभावित होगी. जिला प्रशासन ने अभियंताओं को 24 घंटे तटबंधों पर मुश्तैद रहने का निर्देश दिया है.*

error: Content is protected !!