आरा SDO पर भी लगा आरोप, कोटा के लिए पास जारी करने का लगा इल्जा

आरा SDO पर भी लगा आरोप, कोटा के लिए पास जारी करने का लगा इल्जाम

*रिपोर्ट, पुर्नवासी यादव*

 

आरा : सरकार द्वारा लगातार लॉक डाउन को सख्ती के साथ लागू करने की अपील की जा रही है, लेकिन बिहार में लॉकडाउन में भी वीआईपी ट्रीटमेंट की घटनाएं सामने आ रही हैं। वीआईपी लोगो को आसानी से पास मिलने की बाते कहि जा रही है। जरूरत पड़ने पर आम लोग पास लेने जा रहे है तो भी उन्हें पास नही दिया जा रहा है। और जब जरूरतमंद लोगों को पास नही मिल रहा है तब मजबूरी में लोग लॉकडाउन तोड़ रहे है। वही नवादा में हिसुआ विधायक को कोटा से बेटी को लाने के लिए पास जारी करने के आरोप में सरकार ने नवादा एसडीओ अनु कुमार को सस्पेंड कर दिया है।

 

आपको बता दे कि भोजपुर जिला में भी VIP ट्रीटमेंट का मामला सामने आया है। जहां आरा सदर एसडीओ अरुण प्रकाश की ओर से भी एक ऐसा ही लेटर जारी करने का आरोप लगाया जा रहा है। सोशल मीडिया पर बाकायदा एक पत्र भी जिले में वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह पत्र अनुमंडल पदाधिकारी अरुण प्रकाश की ओर से जारी किया गया है। जिसमें यह लिखा हुआ है कि कतीरा इलाके में जय प्रकाश नगर के रहने वाले अमरेंद्र कुमार सिंह के बड़े भाई का बेटा कोटा में पढ़ता है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पूरे बिहार में 14 अप्रैल (पत्र में लिखी हुई पुरानी तारीख) तक लॉक डाउन किया गया है। जिसके कारण वहां (कोटा में) खाने-पीने की दिक्कत हो रही है। विशेष परिस्थिति में 14 अप्रैल को अमरेंद्र कुमार सिंह के निजी गाड़ी संख्या- BR01 PG 0571 से जाने और कोटा से आने की अनुमति कुछ शर्तों के आधार पर दी जाती है।

 

इस आरोप को लेकर जब न्यूज़ बिहार/भारत लाइव की टीम ने सदर एसडीओ अरुण प्रकाश से बात करनी चाही तो एसडीओ ने फ़ोन नही उठाया। एक बार नही कइयों बार कॉल किया गया लेकिन कोई जवाब नही मिला। अब आगे देखने वाली बात है कि इस मामले में जांच होती है या नही।

error: Content is protected !!