घर में पहुंचा बाढ़ का पानी तो पहुंचा रेलवे लाइन किनारे टेंट गिराने,बिजली के झटकें से पहुचा सदर अस्पताल

 

घर में पहुंचा बाढ़ का पानी तो पहुंचा रेलवे लाइन किनारे टेंट गिराने,बिजली के झटकें से पहुचा सदर अस्पताल

रिपोर्ट:-कन्हैया कुमार सिंह 

     सारण:मशरक थाना क्षेत्र के कर्ण कुदरिया गोपी टोला गांव में गोपालगंज जिले में गंडक नदी का बांध टूटने से आई बाढ़ से मशरक प्रखंड क्षेत्र के चांद कुदरिया, कर्ण कुदरिया गांव में बाढ़ आ गया है। बाढ़ से बचने के लिए लोग ऊंचे स्थानों पर शरण लेने के लिए मजबूर हो गए हैं। मशरक थावे बड़ी रेल लाइन,नहर के बांध और एस एच-90 के किनारे बाढ़ प्रभावित लोगों ने अपना अस्थायी ठिकाना बनाया है। मंगलवार की सुबह बारिश से बचने के लिए बांस से तिरपाल की झोंपड़ी घेरी जा रही थी कि रेलवे लाइन के उपर गुजर रही विद्युत तार से बास का सम्पर्क होने से एक व्यक्ति गंभीर रूप अचेत हो गया जिसे परिजनों ने इलाज के लिए आनन फानन में मशरक पीएचसी में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान चिकित्सक डॉ एस के विद्यार्थी ने बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया।बिजली लगे अचेत व्यक्ति की पहचान कर्ण कुदरिया गोपी टोला गांव निवासी स्व राधा सिंह के 47 वर्षीय पुत्र नंद किशोर सिंह के रूप में हुई। मामले में परिजनों ने बताया कि घर में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है जिससे लोगों ने ऊंचे इलाके रेलवे लाइन के किनारे बसेरा लिया है वही बास से प्लास्टिक तिरपाल से टेंट गिराने के दौरान रेलवे इंजन चलने वाले बिजली तार से बास का सम्पर्क हो गया जिससे अचेत हो गये।

error: Content is protected !!