मृतकों के परिजनों का गंभीर आरोप, पुलिस प्रशासन मृतक के पुत्र को ही भेज दी है जेल: एहसान अहमद

मृतकों के परिजनों का गंभीर आरोप, पुलिस प्रशासन मृतक के पुत्र को ही भेज दी है जेल: एहसान अहमद

 

सारण: सारण जिले के एसडीपीआई टीम मशरख थाना, चांदकुदरिया पंचायत स्थित हरपुरजान गांव पहुंच कर मृतकों के परिजनों से मिलकर संतावना व्यक्त की साथ में सही घटना की जानकारी भी ली। बता दें कि दिनांक 18 जुलाई को संध्या मे दो पक्षों के बीच मार पीट की घटना हुइ थी जिस मे एक पक्ष के गम्भीर रूप से घायल बाबूदद्दीन मियां एवं रोजादीन मियां पटना पीएमसीएच रेफर थे जिनका इलाज पटना के एक निजी अस्पताल मे चल रहा था। बाबू्द्दीन मियां का मृत्यु 21 जुलाई को ही हो चुकी है जबकि दुसरे व्यक्ति रोजादीन मियां का मृत्यु 23 जुलाई को संध्या मे हो गई।दुसरे पक्ष के घायलों का इलाज छपरा सदर अस्पताल मे चल रहा है।अब तक मृत पक्ष के लोगों के तरफ से ही 10 लोगों को पुलिस आरेस्ट कर के जेल भेज चुकी है जबकि दुसरे पक्ष से केवल 7 लोगों के ही आरेस्टिंग हुइ है।परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि अपने मृतक पिता को इलाज़ के लिए ले गए जावेद आलम को ही पुलिस ने अरेस्ट कर के जेल भेज दिया है। परिजनों का यह भी आरोप है कि मार पीट के बाद घायलों को अस्पताल पहुंचाने वाले निर्दोष ग्रामीणों को भी पुलिस ने अरेस्ट कर के जेल भेज दिया है। ग्रामीणों ने घटनाक्रम के बारे मे बताया कि 17 जुलाई को 12 बजे दिन मे अल्पसंख्यक के कुछ बच्चे नहर मे नहा रहे थे उसी दौरान शुदीस राय, पिता-भोला राय, अपने हांथ मे लिए डंडे से लड़कों को मारना शुरू कर दिया इस दौरान लड़कों ने भाग कर अपनी जान बचाई।फिर 18 जुलाई को लगभग 4 बजे संध्या मे शुदिस राय के पुत्र अपने खेत मे घास उखाड़ने गया था तभी दुसरे पक्ष के 2 लड़कों ने शुदीस राय के पुत्र को पीटने के लिए दौराया शुदीस राय का पुत्र अपने मुहल्ले के तरफ़ भाग गया ठीक 2 घंटे बाद लगभग 6 बजे संध्या मे शुदीस राय, एवं राजेश राय, के नितृतव मे लगभग चालिस से पचास के संख्या मे तलवार, लाठी,भाला,फरसा, से लैस होकर अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों पर हमला कर दिया जो लोग भी रास्ते मे मिले उस पर ही जान से मारने के नियत से हमला कर दिया।राजेश राय जो कि पुलिस विभाग मे एएसआई के पद पर कार्यरत है वो लोगों को उकसा कर लाय थे और जोर जोर से चिल्ला कर कह रहे थे सब मियां को काट दो हम देख लेंगे।

एसडीपीआई के जिला सचिव एहसान अहमद ने जिला प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि दोषी व्यक्तियों को जल्द से जल्द अरेस्ट किया जाय फास्ट ट्रैक कोर्ट मे सुनवाई करा कर जल्द से जल्द सजा दिलाई जाए, निर्दोष लोगों को जेल से रिहा किया जाए,दोसी पुलिस कर्मियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए ताकि मृतकों के परिजनों को न्याय मिल सके। अन्यथा बाध्य होकर एसडीपीआई सारण इकाई के टीम आन्दोलन करेगी।

error: Content is protected !!