कोरोना से युद्ध: इसुआपुर के चांदपुरा गाँव को किया जा रहा सेनिटाइज

कोरोना से युद्ध: इसुआपुर के चांदपुरा गाँव को किया जा रहा सेनिटाइज

 

• एन्टी लार्वा का किया जा रहा छिड़काव

• चांदपुरा गांव को किया गया सील

• क्वॉरेंटाइन वार्ड में व्यवस्था को किया गया दुरुस्त

 

छपरा/3 मार्च : कोरोना के खिलाफ युद्ध में स्वास्थ्य विभाग के साथ जिला प्रशासन भी कृत संकल्पित है। संक्रमण की रोकथाम के लिए अहम कदम उठाए जा रहें हैं। जिले के इसुआपुर प्रखंड के चांदपुरा गांव को सेनिटाइज्ड करने का कार्य शुरू कर दिया गया है। पूरे गांव को संक्रमण मुक्त किया जा रहा है। जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के आदेश पर यह कार्रवाई शुरू की गई है। पूरे गांव को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। गांव में किसी को अंदर आने या गांव से बाहर जाने पर पूर्णत: रोक लगा दी गयी है।

 

क्वॉरेंटाइन वार्ड में व्यवस्था को किया गया दुरुस्त: 

 

कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने तथा बचाव के लिए सदर अस्पताल परिसर में जीएनएम स्कूल को क्वॉरेंटाइन वार्ड बनाया गया है, जिसमें चांदपुरा गांव के कोरोना वायरस के संक्रमित पॉजिटिव मरीज के परिजनों तथा रिश्तेदारों को लाकर भर्ती किया गया है। इसकी सफाई तथा कपड़ों की धुलाई के लिए आउटसोर्सिंग एजेंसियों को व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया है। सफाई का काम करने के लिए एक अलग एजेंसी को निर्देश दिया गया है। जबकि आइसोलेशन वार्ड में प्रयोग किए जाने वाले बेडशीट, तकिया, पर्दा, तथा मरीजों के कपड़े को संक्रमण मुक्त करने के लिए एक दूसरी एजेंसी को बहाल किया गया है। साथ ही आइसोलेशन वार्ड में तैनात कर्मचारियों को भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट्स उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं.

 

7 किलोमीटर की दूरी तक “बफर जोन” घोषित: 

 

संक्रमित गांव की परिधि से लेकर सात किलोमीटर की दूरी तक “बफर जोन” घोषित किया गया है । डीएम ने इसुआपुर के बीडीओ तथा अंचल पदाधिकारी को आदेश दिया है कि चांदपुरा पंचायत को चारों तरफ से सील कर आवागमन को पूरी तरह बाधित कर दे और अगले आदेश तक उस गांव को क्वानटाइनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है । सभी सरकारी तथा निजी प्रतिष्ठान एवं मार्गो को अगले आदेश तक बंद करने को कहा गया है।

 

गांव को संक्रमण मुक्त करने का आदेश:

 

डीएम ने चांदपुरा गांव को संक्रमण मुक्त करने का आदेश दिया गया है। जिला मलेरिया पदाधिकारी को संक्रमण मुक्त करने के कार्यों की मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी दी गई है क्वरेंटाइनमेंट जोन में रहने वाले सभी परिवारों की गहन निगरानी की जा रही है।

 

डोर टू डोर पहुंचेगा राशन: 

जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि इस गांव के सभी परिवारों को आवश्यक राशन सामग्री डोर टू डोर पैकेट तैयार कर आपूर्ति की जाए। इसके लिए प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को जिम्मेदारी दी गई है। बफर जोन में आने वाले सभी स्वास्थ्य संस्थान सरकारी एवं निजी सहित अन्य चिकित्सकीय संस्थाओं को सूचीबद्ध करते हुए बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ वाले मरीजों की जांच कर सूचना नियमित रूप से प्राप्त करने का भी सिविल सर्जन को आदेश दिया गया है।

error: Content is protected !!