कोरोना के खिलाफ जंग में मुखिया व जनप्रतिनिधियों ने संभाली कमान, घर-घर जाकर कर रहें जागरूक

कोरोना के खिलाफ जंग में मुखिया व जनप्रतिनिधियों ने संभाली कमान, घर-घर जाकर कर रहें जागरूक

•ग्रामीणों को दूरी बना कर रहने को जागरूक किया

•कोरोना से बचाव में सोशल डिस्टेंसिंगजरूरी

छपरा/ 29 मार्च। कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के साथ साथ अब पंचायती राज भी पुरजोर सहयोग कर रहा है। इसमें सबसे बड़ी भूमिका पंचायत के मुखिया निभा रहे हैं। मुखिया घर -घर जाकर लोगों को नोवेल कोरोनावायरस के बारे में जानकारी दे रहे हैं तथा इससे बचाव के लिए लोगों को जागरूक कर रहे हैं । साथ हीं मुखिया द्वारा लोगों के बीच जरूरी सामानों का भी वितरण किया जा रहा है। इससे बचाव के लिए हैंड सैनिटाइजर, मास्क, साबुन आदि का वितरण किया जा रहा है।

सरकार के निर्देश पर मुखिया कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ जंग में पुरजोर तरीके से सहयोग कर रहे हैं। मुखिया को जिम्मेदारी दी गई है कि उनके पंचायत या गांव में बिहार के बाहर से आने वाले परदेसियों की सूचना जिला प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग की टीम को देंगे तथा उनका स्वास्थ्य जांच कराना सुनिश्चित करेंगे। अपने क्षेत्र में युद्धस्तर पर चला रहे जागरूकता अभियान: कोरोना से बचाव को लेकर पंचायत के गांवों में युद्धस्तर पर जनजागरण कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। पंचायत में कोरोना के संक्रमण से एक भी नागरिक संक्रमित नहीं हों इसका ख्याल रखा जा रहा है। सोशल डिस्टेंस, साफ़-सफाई, लाॅक डाउन का पालन का पाठ पंचायत वासियों को जनजागरूकता कार्यक्रम के जरिए पढ़ाया जा रहा है। पंचायत के लोगों में मास्क का वितरण जहां किया गया है, वहीं साबुन का वितरण करने की तैयारी की जा रही है। पंचायत के गांवों की सड़कों पर लाॅक डाउन का पालन सुनिश्चित कराने के लिए कड़ी निगरानी रखी जा रही है। अति आवश्यकता पड़ने पर ही पंचायत के गांवों से लोगों को बाहर निकलने दिया जा रहा है और फिर हाथ, मुंह, नाक, कान की पूरी साफ़-सफाई के बाद ही उन्हें फिर वापस गांव में प्रवेश करने दिया जा रहा है। दूसरे राज्यों सेे गांवों में प्रवेश करने वाले लोगों पर पाबंदी लगा दी गई है।रेखा मिश्रा, मुखिया, मोहब्बत परसा पंचायत, रिविलगंजलॉक डाउन का हर व्यक्ति पालन करें नही तो पंचायत स्तर पर कार्रवाई :अगर कहीं कोई बिना कार्य के लाॅक डाउन में घर से बाहर घुमते दिखाई देगा। तो ग्राम स्तर पर वैसे व्यक्ति के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर घोषित लॉक डाउन का हर व्यक्ति पालन करें नही तो पंचायत स्तर पर कार्रवाई की जाएगी। इस महामारी के समय में सरकार हमारी भलाई के लिए ही लॉकडाउन की घोषणा की है। पंचायत में वैसे लोग से आर्थिक रूप से कमजोर है वैसे परिवार को मदद किया जा रहा है। लेकिन इसके लिए किसी भी व्यक्ति को घर से निकलने की जरूरत नही है। वैसे सभी लोगों के घर पर ही आसानी से सामान उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। जबतक कोरोना का संक्रमण खत्म नही होता आप सभी पंचायत वासी अपने घरों से बाहर नही निकले आपके हर सुविधा पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है।

संगम बाबा, मुखिया, डटरापुरसौली, इसुआपुरकोरोना को हराने के लिए संकल्पित: कोरोना को हराने के लिए ग्राम पंचायत राज संकल्पित है। तमाम पंचायत प्रतिनिधियों व आमजनता के साथ कोरोना के प्रति सजग, सतर्क व जागरूक रहने के लिए एक बैठक भी संपन्न हुई है। कोरोना बीमारी जैसी खतरनाक महामारी से बचने के लिए पंचायत के लोगों को लाॅक डाउन का पालन करने को कहा गया है। सोशल डिस्टेंस के प्रति पंचायत वासियों को विस्तृत रूप से बताया जा रहा है। यदि कोई धोखे से दूसरे राज्यों से पंचायत के गांवों में प्रवेश कर भी गए तो उन्हें या तो मेडिकल आइसोलेशन में रखा जाएगा या फिर उनके घर में ही उस घर के किसी दूसरे लोगों से संपर्क किए बगैर आइसोलेशन में रखा जाएगा। पंचायत वासियों को यह बात खुले तौर पर बताई गई है कि सिवाय आइसोलेशन के इस रोग की कोई दवा व इलाज नहीं है। इसलिए यह जरूरी है कि लोग सोशल डिस्टेंस बनाकर लाॅक डाउन में अपने-अपने घरों में ही रहें है।मिथिलेश कुमार यादव, मुखिया, केतुका लच्छी पंचायत, मकेरकोरोना से जंग जीतने के लिए रहें सतर्क: कोरोना वायरस के संक्रमण पर जीत हासिल करने के लिए हमें खुद सतर्क रहना पड़ेगा। कोरोना वायरस का संक्रमण हारे इसके लिए हमें लाॅक डाउन का पालन करना होगा। पंचायत के लोग लाॅक डाउन का पालन बखूबी कर रहे हैं। पंचायत के लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया है। पंचायत की महान आमजनता लाॅक डाउन का पालन करते हुए जनता कर्फ्यू के दिन से ही अपने घरों से निकलना बंद कर दिया है। पंचायत के लोगों में मास्क का वितरण किया गया है।सुमित रंजन सिंह, मुखिया, नौतन पंचायत, अमनौर.

error: Content is protected !!