करोना के खिलाफ जंग में डब्ल्यूएचओ, केयर व यूनिसेफ की टीम कर रही है सहयोग

करोना के खिलाफ जंग में डब्ल्यूएचओ, केयर व यूनिसेफ की टीम कर रही है सहयोग

 

• दूसरे देशों या राज्यों से आए व्यक्तियों का डाटाबेस तैयार करेगी टीम

• प्रत्येक सहयोगी संस्था को दिए गए अलग-अलग प्रखंडों की ज़िम्मेदारी

• चलेगा जागरूकता अभियान

 

गोपालगंज/ 31 मार्च। नोवेल कोरोनावायरस संक्रमण से बचने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन लागू किया गया है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक और अहम कदम उठाया गया है। अब नोवेल कोरोनावायरस संक्रमण के खिलाफ जंग में केयर इंडिया, डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ का सहयोग लिया जाएगा। इसको लेकर सिविल सर्जन डॉ नंदकिशोर प्रसाद सिंह ने केयर इंडिया के डीआरयू-टीएल, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ एवं यूनिसेफ के एसएमसी को निर्देश दिया है कि दूसरे देशों या राज्यों से अपने गांव आए व्यक्तियों का डाटाबेस तैयार करें।

 

सिविल सर्जन डॉ. नंदकिशोर प्रसाद सिंह ने बताया केयर इंडिया के बीएम, यूनिसेफ के बीएमसी तथा डब्ल्यूएचओ के एफ़एम प्रखंड स्तर पर इस अभियान में सहयोग करेंगे तथा दूसरे देशों या राज्यों से आए व्यक्तियों का डाटाबेस तैयार करना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही प्रत्येक यात्रियों एवं उनके परिवार के सदस्यों को कोविड-19 के लक्षण के संबंध में जागरूक करना सुनिश्चित करेंगे। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर विशेषकर बाहर से आए लोगों को अधिक जागरूक करने की जरूरत है. जिले में यह निरंतर कोशिश की जा रही है कि जो भी लोग दूसरे राज्यों से जिला लौट रहे हैं उन्हें 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रखा जाए. लेकिन इसके लिए आम लोगों की भी सहयोग की जरूरत पड़ेगी. उन्होंने आम लोगों से लॉकडाउन की स्थिति में कम से कम घर से बाहर निकलने की अपील की.

 

गूगल शीट में अपडेट होगा डाटा:

 

दूसरे देशों या अन्य राज्यों से गांव आए व्यक्तियों का डेटाबेस गूगल सीट में तैयार किया जाएगा प्रत्येक दिन गूगल सीट को अपडेट किया जाएगा। सिविल सर्जन डॉ.सिंह ने बताया इस कार्य को अधिक सरल बनाने के उद्देश्य से इन तीनों संस्थाओं के बीच प्रखंडों का बंटवारा किया गया है। जिसमें केयर इंडिया के डीआरयू- टीएल मुकेश कुमार सिंह को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वह प्रतिदिन संध्या 6:00 बजे डेवलपमेंट पार्टनर द्वारा तैयार किए गए डेटाबेस की अद्यतन स्थिति से अधोहस्ताक्षरी को अवगत कराना सुनिश्चित करेंगे।

 

 

प्रखंडों का बंटवारा:

 

• केयर इंडिया के लिए: कुचायकोट, बरौली, फुलवरिया, उचकागांव, हथुआ, सदर प्रखंड, गोपालगंज शहरी क्षेत्र, पंचदेवरी।

• यूनिसेफ के लिए: यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमारी ने बताया बैकुंठपुर, सदर प्रखंड, गोपालगंज ग्रामीण क्षेत्र, विजयीपुर, मांझा प्रखंड की जिम्मेदारी यूनिसेफ की टीम को दी गई है।

• डब्ल्यूएचओ के लिए: डब्ल्यूएचओ के टीम के लिए सिधवलिया, थावे, भोरे, कटेया प्रखंड आवंटित किया गया है। जिसमें डब्ल्यूएचओ के टीम के द्वारा सहयोग लिया जाएगा।

error: Content is protected !!