जहरीली शराब से आधा दर्जन लोगों की मौत। कितनों की नाजुक स्थिति।

News4Bihar/छपरा: अमनौर और मकेर थाना क्षेत्रो में आधा दर्जन लोग बिशाक्त शराब के सेवन से मौत के मुह में फंसे हुए है,जबकि पांच की मौत हो चुकी है।कुछ मृतक के परिजनों ने पुलिस व पुलिस समर्थित जनप्रतिनिधियों के दबाव में आकर बयान बदल दिए,और शव को दफना दिया है।जबकि कुछ के परिजनों ने शराब पीने से मौत होने की बात कही है।अधिकारी ठंड से मौत होने की बात कह रहे है।ग्रामीणों की यह हास्यप्रद लग रही है।ग्रामीणों ने बताया कि जहरीली शराब के सेवन से सभी लोग मर रहे है,अधिकारी व स्थानीय जन प्रतिनिधियों के दबाव में बयान बदल रहे है।शराब के सेवन से मरने वालों में अमनौर के नरसिंह भान पुर गांव के 1.राम नाथ राय 55 वर्ष,परमानन्द छपरा गांव के 2. कृष्णा महतो उर्फ टूना महतो 45 वर्ष,बसंतपुर बंगला गांव के 3. ईशा मिया 52 वर्ष,वही परमानन्द छपरा गांव के पलटन महतो की आखों की रौशनी गायब है,इनका उपचार मुजफ्फर पुर में कराया जा रहा है। वही मकेर प्रखण्ड के मृतक नवगाढा गांव निवासी भरत राय 55 वर्ष,नंदन कैतुका, गांव के 55 वर्षीय बृजबिहारी राय, जनता बाजार पर शत्रुध्न महतो के आरा मशीन पर काम करने वाला कारीगर सिवान निवासी अनिल मिस्त्री,शामिल है वही तारा अमनौर के 20 वर्षीय सूरज बैठा अम्बे नरसिंह होम छपरा से पटना रेफर है,जीवन मौत से जूझ रहा है,घर का इकलौता औलाद है। लेकिन इन सबके बाद भी पुलिसिया भय से सभी अपने जुबान बंद किये हुए है ,पुलिस इसे ठंड लगने से मौत की बात कह रही है,आस पास के ग्रामीण व कुछ के परिजन दबे जुबान से बिशाक्त शराब के सेवन से मौत की बात कह रहे है।अब देखना है न्याय की होगी जीत या पुलिस प्रशासन के समक्ष सब नतमस्तक।

error: Content is protected !!