कुष्ठ रोगियों का शिविर लगाकर लक्षण जांच कर उपचार पर दिया गया जोर  

कुष्ठ रोगियों का शिविर लगाकर लक्षण जांच कर उपचार पर दिया गया जोर

कन्हैया  कुमार सिंह कि रिपोर्ट(सारण)

 

 

मशरक पीएचसी में कुष्ठ रोगियों के पहचान और बेहतर इलाज के लिए एक शिविर लगाकर दर्जनों रोगियों को जाच कर उपचार पर जोर दिया गया। सामाजिक मान्यताओं के अनुसार कुष्ठ दैविक प्रकोप से होता है।जबकि कुष्ठ खास किस्म के जीवाणु से फैलने वाला रोग होता है मौके पर पीएचसी प्रभारी डॉ अनंत नारायण कश्यप ने बताया कि कुष्ठ लाइलाज बीमारी नही है इलाज के द्वारा इसे पूरी तरह ठीक किया जा सकता है। मौके पर प्रशिक्षक संजय कुमार ने बताया कि सरकार द्वारा कुष्ठ रोग का इलाज मुफ्त में किया जाता है इसके लिए पीएचसी में दवा उपलब्ध है। आशा कार्यकर्ता के सहयोग ग्रामीण इलाकों में रोगियों की पहचान कर इलाज के लिए पीएचसी में लाया जाएगा जहां उनका समुचित इलाज होगा। पीएचसी प्रभारी डॉ अनंत नारायण कश्यप ने बताया कि सरकार ने ठाना है कि कुष्ठ रोग को जड़ से खत्म करना है। कुष्ठ रोगियों से घृणा करने,उनसे दूर भागने,छूने से डरने की बजाए उनसे दोस्ती कर दवा खिलाने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि कुष्ठ रोगियों के इलाज के लिए सारण जिले में डीएफआईटी एनजीओ के सहयोग से प्रराशर्म दिया जा रहा है जो कुष्ठ रोगियों को इलाज के लिए मदद मे सहयोग करतें हैं।

error: Content is protected !!