कोरोना काल में निर्भीक होकर टीकाकरण स्थल पर पहुंच रहीं लाभार्थी

कोरोना काल में निर्भीक होकर टीकाकरण स्थल पर पहुंच रहीं लाभार्थी

 

•लाभार्थियों को किया जा रहा जागरूक

•स्वास्थ्य कर्मियों के साथ जनप्रतिनिधि भी कर रहे हैं जागरूक

•टीकाकरण स्थल पर हो रहा है सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

 

छपरा/16 मई। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच नियमित टीकाकरण व आरोग्य दिवस की शुरुआत फिर से कर दी गई है। ऐसे में कोरोना काल के बीच भी लाभार्थी गर्भवती महिलाएं और बच्चे निर्भीक होकर टीकाकरण स्थल पर पहुंच रहे हैं। जिले के सभी प्रखंडों में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्य सभी टीकाकरण सत्रो पर टीकाकरण का कार्य शुरू कर दिया गया है। जहां पर सोशल डिस्टेंसिंग व सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। टीकाकरण स्थल पर आने के लिए लाभार्थियों को जागरूक भी किया जा रहा है तथा उन्हें मास्क पहनकर व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए टीकाकरण स्थल पर आने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। लाभार्थियों को जागरूक करने में स्वास्थ्य कर्मियों जैसे-आशा कार्यकर्ता, बीएचएम, यूनिसेफ के बीएमसी, केयर इंडिया के बीएम के साथ जनप्रतिनिधि भी सहयोग कर रहे हैं, ताकि उनके क्षेत्र में कोई भी लाभार्थी टीकाकरण से वंचित ना रहे।

 

टीकाकरण से कई तरह की बीमारियों से होता है बचाव:

 

यूनिसेफ के जिला समन्वयक आरती त्रिपाठी ने बताया शिशुओं व गर्भवती महिलाओं के रूटीन इम्यूनाइजेशन उन्हें कई तरह की बीमारियों से बचाता है। इनमें कई बीमारियां शामिल है। टीकाकरण से बच्चों के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जाता है ताकि उनके रोग से लड़ने की क्षमता विकसित हो सके। बीमारियां जैसे खतरा, टिटनस, पोलियो, क्षय रोग, गलाघोंटू, काली खांसी व हेपेटाइटिस बी आदि बीमारियों से यह बच्चों की सुरक्षा करता है।

 

सोशल डिस्टेंसिंग का रखा जा रहा ख्याल:

 

टीकाकरण के दौरान सभी स्वास्थ्य कर्मियों लाभार्थियों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षात्मक यथा: सभी स्तर पर व्यक्तिगत दूरी, कम से कम 6 फीट की दूरी, मुंह को ढक कर रखने, हाथ धोने एवं स्वास्थ्य संबंधित दिशा निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

 

लाभार्थियों को आमंत्रित कर रहीं हैं आशा:

सिविल सर्जन डॉ माधवेश्वर झा ने बताया प्रत्येक टीकाकरण सत्र के पूर्व सभी लक्षित लाभार्थियों को टीकाकरण सत्र स्थल समय की सूचना आशा द्वारा दी जा रही है। लाभार्थियों को एक तय समय सारणी के अनुसार सत्र स्थल पर आने के लिए सूचित किया जा रहा है । ताकि किसी भी परिस्थिति में 5 से अधिक व्यक्ति एकत्र ना हो पाए। इसके साथ ही सत्र स्थल पर निश्चित दूरी पर घेरा का प्रतीक चिन्ह बना कर लाभार्थियों को रखा जा रहा है। लाभार्थियों लाभार्थी को लेकर आने वाले परिवार के सदस्य भी निश्चित रूप से अपने मुंह एवं नाक को कपड़े मास्क से ढककर आने के लिए प्रेरित कर रही है।

 

 

इन निर्देशो का हो रहा पालन:

 

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा ने बताया प्रत्येक कोल्ड चेन पॉइंट को पर्याप्त संख्या में मास्क, ग्लब्स, हैंड सेनीटाइजर व साबुन उपलब्ध कराया गया है। कोल्ड चैन हैंडलर द्वारा वैक्सीन वितरण के पूर्व अच्छी तरह सैनिटाइजर व साबुन से हाथ साफ किया जा रहा है। सभी संबधित कर्मी द्वारा कार्य के दौरान अनिवार्य रूप से मास्क का उपयोग किया जा रहा है।

error: Content is protected !!