जेपी विवि में ओएम आर शीट पर हो सकती है परीक्षा कमेटी की मुहर

जेपी विवि में ओएम आर शीट पर हो सकती है परीक्षा कमेटी की मुहर

राजभवन से बनी कुलपतियों की कमेटी ने सितंबर में परीक्षा कराने का दिया सुझाव

  • स्नातक द्वितीय खंड B.ed प्रथम वर्ष एवं पीजी की होनी है परीक्षाएं
  • कुलपति परीक्षा के पैटर्न में बदलाव करने के लिए किए गए हैं अधिकृत

राजभवन की कमेटी ने बीवी को क्या दिया है सुझाव

  • ओ एम आर सीट पर कराई लंबित परीक्षाएं 
  • छोटी परीक्षाएं ऑनलाइन कराई जाए 
  • परीक्षा में शारीरिक दूरी का पालन हो मास्क पहनना होगा अनिवार्य
  •  3 घंटे बदले 2 घंटे की परीक्षा ली जाए
  •  एक दिन में तीन पारियों में ली जाए परीक्षाएं 
  • छोटे प्रश्नों के आधार पर परीक्षा की जाए
  • रिपोर्ट-पुर्नवासी यादव

सारण– जयप्रकाश विश्वविद्यालय की प्रथम वर्ष 2019 21 स्थानक उत्तर एवं स्नातक द्वितीय खंड सत्र 2017 20 की परीक्षा सितंबर महीने में हो सकती है जिस पर राजभवन के पांच कुलपतियों की कमेटी ने अपनी सहमति दे दी है लेकिन कोविड-19 को देखते हुए उस में फेरबदल करने का अधिकार भी संबंधित विश्वविद्यालय के कुलपति को दिया है वे अपने स्तर से परीक्षा के पैटर्न एवं तिथि में बदलाव कर सकते हैं राजभवन के द्वारा गठित कमेटी के सदस्य एवं जेपी विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति प्रोफ़ेसर हनुमान प्रसाद पांडे ने बताया कि बैठक में सितंबर में यूजीसी की गाइडलाइन के तहत परीक्षा लेने पर निर्णय लिया गया है जिसमें ऑनलाइन मल्टीपल चॉइस एमसीक्यू एवं छोटे प्रश्नों के आधार पर परीक्षा कराने पर विचार हुआ है लेकिन जेपी विश्वविद्यालय में ऑनलाइन परीक्षा कराना संभव नहीं है इसलिए जेपीयू में एस एम सी क्यू या छोटे प्रश्नों की आधार पर ऑनलाइन परीक्षा लेने पर विचार किया जाएगा इसके साथ ही 2 घंटे का परीक्षा करके एक दिन में तीन पारियों में परीक्षाएं लेने पर विचार हुआ है राजभवन के द्वारा गठित कमेटी में पटना विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर प्रसाद पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपति गुलाब चंद्र जायसवाल पूर्णिया विश्वविद्यालय के कुलपति राजेश सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति और राजेंद्र प्रसाद एवं प्रभारी कुलपति और हनुमान प्रसाद पांडे सदस्य हैं।

 

जयप्रकाश विश्वविद्यालय के पार्ट 2 बीएड और पीजी की लंबित परीक्षाएं एवं पार्ट वन में नामांकन सितंबर महीने में कराने पर विचार किया जा रहा है जिस पर जल्द बैठक करके निर्णय लिया जाएगा :प्रो० हनुमान प्रसाद पांडे कुलपति जयप्रकाश विश्वविद्यालय

error: Content is protected !!