खेलो इंडिया योजना के तहत सरकार ने जेपीयू को दिए 11.5 करोड़ रुपए

खेलो इंडिया योजना के तहत सरकार ने जेपीयू को दिए 11.5 करोड़ रुपए

 

• खेल गतिविधियों को बढ़ाने के लिए बिहार में सबसे ज्यादा रुपया मिला जेपी यूनिवर्सिटी को

 

•अंतराष्ट्रीय स्तर का बनेगा सिंथेटिक एथेलेटिक्स ट्रैक : कुलपति

 

संजय कुमार पांडेय की रिपोर्ट

   छपरा : युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा खेलो इंडिया योजना के तहत बिहार के विभिन्न विश्वविद्यालयों , महाविद्यालयों एवं जिला मुख्यालय में खेल और संरचनाओं के निर्माण के लिए वित्त उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके तहत बिहार के 10 विश्वविद्यालयों में सबसे अधिक जयप्रकाश विश्वविद्यालय को 11. 5 करोड़ रूपया मिलने वाला है । उक्त आशय का पत्र भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय के द्वारा जारी कर दिया गया है।

इस बाबत जयप्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ फारूक अली ने बताया कि जयप्रकाश विश्वविद्यालय में सरकार के खेलो इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत मल्टीपर्पज हॉल एवं सिंथेटिक एथेलेटिक्स ट्रैक का निर्माण किया जाएगा। उक्त चीजों का निर्माण करने के लिए सरकार के तरफ से 11. 5 करोड रुपए उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके लिए कुलपति ने सरकार को धन्यवाद दिया।

 

बताते चलें कि खेल गतिविधियों को बढ़ाने के लिए सरकार के द्वारा विश्वविद्यालय महाविद्यालय एवं जिला स्तर पर संरचनाओं का विकास किया जा रहा है। जिसके तहत छपरा के जयप्रकाश विश्वविद्यालय को चुना गया है। इस बाबत कुलपति डॉ फारूक अली ने कहा कि सरकार के इस कार्य से विश्वविद्यालय के प्रगति में नया आयाम जुड़ेगा तथा सिंथेटिक एथेलेटिक्स ट्रैक अंतरराष्ट्रीय स्तर का होगा।

गौरतलब है कि जयप्रकाश विश्वविद्यालय में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक बनाने के लिए मंत्रालय द्वारा 7 करोड़ रूपए को आवंटित किया गया है। वही विश्वविद्यालय में मल्टीपर्पज हॉल बनाने के लिए 4.5करोड़ रुपए उपलब्ध कराने की घोषणा की गई है। यह मल्टीपरपज हॉल डी पी ए सी के द्वारा एप्रूव्ड किए गए मॉडल के आधार पर बनेगा। बताते चलें की कला संस्कृति एवं युवा विभाग बिहार सरकार द्वारा युक्त योजनाओं के कार्यन्वयन हेतु बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड पटना को कार्यकारी अभिकरण नामित किया गया है। मल्टीपरपज इंडोर हॉल का निर्माण युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के डी पी ए सी के द्वारा स्वीकृत मॉडल के अनुरूप तैयार किया जाएगा ।वहीं अन्य योजनाओं का निर्माण बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड पटना द्वारा तकनीकी रूप से अनुमोदित प्राक्कलन के आधार पर युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली के द्वारा दी गई प्रशासनिक स्वीकृति के अनुरूप स्वीकृत राशि के अंतर्गत किया जाएगा।

सभी योजनाओं के निर्माण का प्रभावी अनुश्रवण , ससमय कार्य पूर्ण करने एवं कार्य की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए कला संस्कृति एवं युवा विभाग के अंतर्गत कार्यरत छात्र एवं युवा कल्याण निदेशालय तथा बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड पटना द्वारा संयुक्त दल का गठन किया जाएगा। जिनके द्वारा प्रत्येक 3 महीने के समाप्ति पर संयुक्त प्रगति प्रतिवेदन प्रधान सचिव कला संस्कृति एवं युवा विभाग, बिहार के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार से इन योजनाओं हेतु स्वीकृति राशि राज्य सरकार द्वारा खेलो इंडिया योजनाओ के कार्यान्वयन हेतु नामित नोडल एजेंसी बिहार राज्य खेल प्राधिकरण पटना जो पी एफ एम एस / ई ए टी मॉड्यूल के अंतर्गत निबंधित है, के माध्यम से प्राप्त की जाएगी एवं योजनाओं के कार्यन्वयन हेतु राशि बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड , पटना को उनके मांग के आधार पर मांग प्राप्त होने पर 3 कार्य दिवसों में उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही बिहार राज्य शैक्षणिक संरचना विकास निगम लिमिटेड पटना द्वारा ससमय बिहार राज्य खेल प्राधिकरण , पटना के माध्यम से उपयोगिता प्रमाण पत्र उपलब्ध कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *