थर्मल स्कैनिंग के साथ ही संभावित लोगों के सैंपल जांच हेतु बीएचयू लेबोरेटरी में भेजे जाय- कमिश्नर।

थर्मल स्कैनिंग के साथ ही संभावित लोगों के सैंपल जांच हेतु बीएचयू लेबोरेटरी में भेजे जाय- कमिश्नर।

 

कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज में चिकित्सा प्रोटोकॉल के अनुसार समुचित इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित हो – दीपक अग्रवाल।

 

वाराणसी। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कोरोना वायरस के संक्रमण एवं उससे बचाव के लिए लोगों के थर्मल स्कैनिंग के साथ ही संभावित लोगों के सैंपल जांच हेतु बीएचयू लेबोरेटरी में भेजे जाने का निर्देश दिया हैं। उन्होंने कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज में किसी भी स्तर पर कोई कोताही न बरते जाने की विशेष हिदायत देते हुए चिकित्सा प्रोटोकॉल के अनुसार समुचित इलाज की व्यवस्था पर विशेष जोर दिया।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल गुरुवार को अपने मंडलीय सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने अपर निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण सहित मुख्य चिकित्सा अधिकारी वाराणसी को निर्देशित करते हुए कहा कि मंडल के अन्य जनपदों की भी कोरोना पॉजिटिव (एल-1) मरीजों को वाराणसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कर इलाज किए जाने की व्यवस्था की गयी है। इसलिए एल-2 श्रेणी के कोरोना मरीजों के इलाज एवं चिकित्सा की व्यवस्था हेतु गाजीपुर एवं जनपद जौनपुर के 106 डॉक्टरों की भी ड्यूटी मरीजों के लिए वाराणसी में ही लगाई गई है। जिसमें से अब तक 83 लोगों ने कार्यभार ग्रहण कर लिया है। शेष लोगों को कल शाम तक रिपोर्टिंग सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि प्रत्येक शिफ्ट में 53 डॉक्टरों की जाएगी। कमिश्नर ने निर्देशित किया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय तथा राज्य कर्मचारी बीमा निगम चिकित्सालय (एसआईसी) क्रमशः एल-1 एवं एल-2 श्रेणी के कोरोना मरीजों का इलाज किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित किया गया है। उन्होंने 30 बेड के शिवपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी एल-1 श्रेणी की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने बताया कि 100 शैया वाले राज्य कर्मचारी बीमा निगम चिकित्सालय में 10 बेड आईसीयू के हैं। कमिश्नर ने पीपी किट, एन95 मास्क एवं ग्लब्स आदि की पर्याप्त उपलब्धता पर संतोष व्यक्त किया। कमिश्नर ने लाक डाउन के दौरान पूरी तरह सील किए गए हॉटस्पॉट मदनपुरा, बजरडीहा, लोहता एवं गंगापुर के लोगों को दूध, सब्जी, किराना, दवाओं के साथ साथ अन्य आवश्यक की उपलब्धता सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया। कमिश्नर ने सभी अधिकारी/कर्मचारियों अपने अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड किए जाने का निर्देश दिया। साथ ही के अन्य लोगों के भी मोबाइल में इस महत्वपूर्ण ऐप को डाउनलोड कराए जाने हेतु इस कार्य में आशा बहुओं, आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों, लेखपाल आदि के माध्यम से डाउनलोड कराए जाने पर विशेष जोर दिया। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कृषि विभाग, आपूर्ति विभाग, राजस्व विभाग, डूडा एवं नगर निगम आदि विभागों में सरकारी योजनाओं का लाभ लिए जाने के दौरान लाभार्थियों के रूप में उपलब्ध मोबाइल नंबर के माध्यम से आरोग्य सेतु एप तथा अपने घरों पर बैठे-बैठे अपने बैंक खाता में उपलब्ध धनराशि का भुगतान डाकखाना के डाकिया के माध्यम से प्राप्त किए जाने संबंधी सूचना उपलब्ध कराए जाने का निर्देश दिया। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने विशेष रूप से निर्देशित करते हुए कहा कि लाक डाउन के दौरान पुलिस द्वारा किसी भी स्थल पर चेकिंग या पूछताछ किया जाता है पास या परिचय पत्र मागा जाता है तो लोग इसे अवश्य उपलब्ध कराएं और दिखाएं। इसमें अपनी किसी प्रकार की लोग तौहीन न समझे। 234 गेहूं क्रय केंद्रों के माध्यम से गेहूं खरीद के दौरान उन्होंने मौके पर लोगों को मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का हर हालत में पालन करने तथा क्रय केन्द्रों पर आने वाले लोगों का हाथ धुलने एवं सेनीटाइज किए जाने की व्यवस्था रखने एवं कराने का निर्देश दिया।

बैठक में आईजी विजय सिंह मीणा ने बैंकों एवं एटीएम पर भुगतान प्राप्त करने के लिए ग्राहकों की लगने वाली भीड़ के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग भंग होने पर नाराजगी जतायी। अग्रणी बैंक प्रबंधक एवं प्रमुख बैंकों के प्रबंधकों को कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कड़ी निर्देश दिए हैं कि वे अपने बैंकों की ब्रांचो तथा एटीएम पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए रिंग का पेंटिंग तत्काल करावे और आने वाले ग्राहकों से सोशल डिस्टेंसिंग का हर हालत में सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया।

बैठक में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, एसएसपी प्रभाकर चौधरी, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण राहुल पांडेय, नगर आयुक्त गौरांग राठी, अपर निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!