126 लोगों को सरकारी क्वारेंटाइन सेंटर से होम कोरोन्टाईन कराया गया-जिलाधिकारी।

126 लोगों को सरकारी क्वारेंटाइन सेंटर से होम कोरोन्टाईन कराया गया-जिलाधिकारी।

 

 

रविवार को उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की दो बसो के माध्यम से लोगो को घरों को भेजा गया।

 

 

वाराणसी।जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस (कोविड-19) के संकमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु जनपद-वाराणसी में लॉकडाउन के दौरान कुल 5 कोरेन्टाईन केन्द्रों पर चिकित्सकीय प्रोटोकाल एवं परिचालन सम्बन्धी दिशा-निर्देशो के अनुरूप विभिन्न राज्यों एवं उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलो से आये हुए 636 व्यक्तियों को सरकारी कोरेन्टाईन केन्द्रों में रखने की व्यवस्था की गयी थी। जिसमें से आशा महाविद्यालय बाबतपुर वाराणसी में 69, जवाहर नवोदय विधालय गजोखर पिण्डरा में 255 तथा जागरण पब्लिक स्कूल कृष्णा नगर दरेखू राजातालाब वाराणसी में 200 व्यक्तियों को कोरेन्टाईन किया गया था।

जिलाधिकारी कौशल शर्मा ने बताया कि जनपद में स्थापित सरकारी कोरेन्टाईन केन्दों पर चिकित्सकीय प्रोटोकाल एवं परिचालन संबंधी शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरूप 14 दिन का समय व्यतीत हो जाने के कारण जनपद वाराणसी के ही रहने वाले कुल 126 लोगों को सरकारी क्वारेंटाइन सेंटर से होम कोरोन्टाईन हेतु रविवार को उनके घरो को प्रातः 10 बजे से 4 बजे तक उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की दो बसो के माध्यम से भेज दिया गया है। होम कोरेन्टाईन हेतु घर भेजे जाने वाले समस्त व्यक्ति जनपद वाराणसी के ही रहने वाले है। जो आशा महाविधालय बाबतपुर वाराणसी से 45, जवाहर नवोदय विधालय गजोखर पिण्डरा से 11 तथा जागरण पब्लिक स्कूल कृष्णा नगर दरेखू राजातालाब वाराणसी से 70 में रहे। इसके अतिरिक्त आशा महाविद्यालय बाबतपुर वाराणसी में अन्य राज्यों एवं उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों के रहने वाले 24 व्यक्तियों को संचालन की सुगमता हेतु रविवार को जवाहर नवोदय विद्यालय गजोखर पिण्डरा में शिफ्ट कर दिया गया है और इस भवन को खाली करा दिया गया है। इस प्रकार जनपद में स्थापित दोनों सरकारी कोरोन्टाईन केन्द्रों पर ठहरे हुए अन्य प्रदेशो एवं उत्तर प्रदेश के अन्य जनपदों के क्रमशः जवाहर नवोदय विधालय गजोखर संख्या-268 तथा जागरण पब्लिक स्कूल कृष्णा नगर दरेखू राजातालाब संख्या-130 लोग हैं।

error: Content is protected !!