लॉक डाउन के आदेश का पालन व मॉनिटरिंग का करने का डीएम ने दिया निर्देश

कोरोना वायरस को लेकर बनाये गए छह अलग-अलग कोषांग, पदाधिकारियों की हुई प्रतिनियुक्ति

• लॉक डाउन के आदेश का पालन व मॉनिटरिंग का करने का डीएम ने दिया निर्देश

• घरों में ही रहें सभी लोग

छपरा/ 23 मार्च। बिहार सरकार के मुख्य सचिव के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्राप्त निर्देश के आलोक में जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने बताया कोरोना वायरस संबंधी किसी भी मामले पर त्वरित कार्रवाई के लिए जिला में छः कोषांग बनाये गये हैं। ये कोषांग है: हाउस क्वेरेन्टीन कोषांग, ट्रैंकिंगग एवं मॉनिटरिंग कोषांग, आईसोलेशन कोषांग, 104 नियंत्रण कक्ष/आपातकानीन संचालन केन्द्र, कन्फर्म मामले सबंधी कोषांग, लॉकडाउन इनफोर्समेन्ट कोषांग। इन सभी कोषांग के संचालन के लिए अलग-अलग पदाधिकरियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। हाउस क्वरेन्टीन कोषांग के द्वारा बाहर से आने वाले उन सभी लोगों पर नजर रखी जाएगी जिन्हें उन्हीं के घर में आईसोलेट किया गया है। इसका प्रभार इसका प्रभार अपर समाहत्र्ता विभागीय जाँच एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी को दिया गया है। ट्रैकिंग एव मोनेटरिंग कोषांग के द्वारा संदिग्ध लोगों के भ्रमण पर नजर रखी जाएगी। सभी प्रखण्डों में एक-एक आईसोलेशन सेल के गठन का निदेश दिया गया है। यह सेल प्रखण्डों में चिन्हित विद्यालय में बनाया जाएगा जहाँ सभी जरूरी व्यवस्थायें उपलब्ध करायी जाएगी। जिला स्तर पर आइसोलेशन सेल के लिए शहर के महाराजा होटल को चिन्हित किया गया है। लॉकडाउन इन्फोर्समेन्ट सेल के द्वारा लॉकडाउन संबंधित व्यवस्थायें लागू करायी जाएगी। इसका प्रभारी निदेशक डीआरडीए तथा जिला पंचायत राज पदाधिकारी को दिया गया है। 31 मार्च 2020 तक जिला मुख्यालय, अनुमंडल मुख्यालय, सभी प्रखण्ड मुख्यालय तथा सभी नगर निकाय क्षेत्रों को लॉकडाउन किया गया है। इसमें निजी प्रतिष्टानों, निजी कार्यालयों एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्णतः बंद किया गया हैं। इन सेवाओं को लॉक डाउन से रखा गया बाहर: जिलाधिकारी ने बताया कि आवश्यक एवं अनिवार्य सेवाओं यथा खाद्यान एवं किराना, फल एवं सब्जी के दुकानो, दवा की दुकानो, डेयरी एवं डेयरी से संबंधित प्रतिष्टान, पेट्रोल पम्प, वैंकिंग एवं एटीएम, पोस्ट आफिस तथा प्रिंट एवं इलेक्ट्रनिक मीडिया आदि सेवाओं को लॉकडाउन से बाहर रखा गया है।

जिलाधिकारी ने की अपील: घरों में ही रहें लोग

जिलाधिकारी ने अपील की है कि लोग अपने घरों में ही रहें और बहुत जरूरी नहीं हो तो घर से बाहर नहीं निकलें। जिलाधिकारी के द्वारा सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एव अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि सभी अपने क्षेत्र अंतर्गत पीएचसी पर 4 वाहन की व्यवस्था अबिलम्ब करेंगे और इनमें चालक की व्यवस्था रोस्टर के अनुसार 8-8 घंटे पर तैयार करते हए उनका नाम, मोवाईल संख्या एवं गाड़ी संख्या के साथ जिला नियंत्रण कक्ष एवं जिला एडमिन व्हाअ्सप्प ग्रुप पर शेयर करेंगे। सभी एसएससी एवं एपीएचसी बंद रहेंगे। लेकिन वहां के डॉक्टर एवं पारा मेडिकल स्टाफ पीएचसी पर प्रतिनियुक्त रहेगें। जिसे एमओआईसी से समन्वय कर सुनिश्चित कराया जाएगा। कोई भी डॉक्टर एवं पारा मेडिकल कर्मी अवकाश पर नहीं जाएंगे।विद्यालयों को चिन्हित कर करें साफ-सफ़ाई: अपने-अपने प्रखंड के अंतर्गत कम-से-कम एक विद्यालय को चिन्हित करते हुए वहां आवश्यक साफ-सफाई, बिजली, आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। इस हेतु जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से समन्वय करेंगे। बाहर से आने वाले लोगों की करें पहचान:डीएम ने कहा सिविल सर्जन एवं एमओआईसी से समन्वय करते हुए अपने क्षेत्र में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की पहचान कर विकास मित्र/आशा/एएनएम/चैकीदार आदि के माध्यम से निगरानी रखेगे।जमाखोरो के विरूद्ध अभियान चलायें:जिलाधिकारी के द्वारा जिला आपूर्ति पदाधिकारी, सभी अनुमण्डल पदाधिकारी और प्रखण्डों के एमओ को निर्देश दिया गया है जमाखोरो के विरूद्ध अभियान चलायें तथा जहाँ से भी अधिक दाम पर वस्तुओं के बिक्री की शिकायत मिले उनके विरूद्ध जाँच कर कठोर कार्रवाई की जाये।

error: Content is protected !!