सांसद सिग्रीवाल ने किया घंटीबाबा मंदिर के चहारदिवारी का उद्घाटन।

सांसद सिग्रीवाल ने किया घंटीबाबा मंदिर के चहारदिवारी का उद्घाटन।

रिपोर्ट: चंदन कुमार “चंचल”

सारण:(तरैया)- प्रखंड के तरैया मसरख मुख्य पथ एसएच 73 पर रामबाग में स्थित संकट मोचन घंटी बाबा मंदिर के चहारदीवारी का उद्घाटन स्थानीय सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने किया फीता काटकर और शिलापट्ट का अनावरण करके किया।स्थानीय ग्रामीणों द्वारा भूमि दान करके एवं अपने क्षेत्र सहित अन्य बाहरी क्षेत्रों से भी जनसहयोग इकट्ठा करके बनाए गए भव्य संकट मोचन मंदिर के चारदीवारी का निर्माण 7.79 लाख रुपए की लागत से सांसद ऐच्छिक कोष के द्वारा किया गया था जिसका उद्घाटन करने के लिए मंदिर निर्माण की समिति द्वारा सांसद श्री सिग्रीवाल से आग्रह किया गया था जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार किया। इस संबंध में बताते हुए मंदिर निर्माण समिति के व्यवस्थापक श्रीकांत सिंह ने बताया की यह मंदिर ऐतिहासिक महत्व का मंदिर है और घंटी बाबा के नाम का ताम्रपत्र खुदाई में मिले होने की वजह से ही इस मंदिर का नाम संकटमोचन घंटी बाबा दरबार रखा गया एवं जन सहयोग से इस भव्य मंदिर का निर्माण संपन्न होने के बाद मंदिर निर्माण समिति ने स्थानीय सांसद श्री सिग्रीवाल से चहारदीवारी निर्माण कराने के लिए आग्रह किया था जिसे उन्होंने अपने ऐच्छिक निधि से स्वीकृति दिलवाकर निर्माण कराया इसके लिए मंदिर निर्माण समिति उनका कोटि-कोटि धन्यवाद ज्ञापन करता है। वही उद्घाटन के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए सांसद श्री सिग्रीवाल ने कहा कि आज घंटी बाबा के दरबार मे मंदिर संयोजक देवकुमार सिंह जयपुर में किसी काम से गये हुए है। जिनका कमी आज खल रही है। आगे उन्होंने बताया कि मैं शुरू से इस जगह को देखते आ रहा हूं और यहां के लोगों के प्रयास से इस जगह की जो काया-पलट हुई है। और यहां संकट मोचन घंटी बाबा का दरबार नजर आ रहा है। यह वास्तव में प्रशंसनीय एवं अनुकरणीय कार्य है, और मेरी भी घंटी बाबा के प्रति अपार आस्था रही है जिसके तहत मैंने यहां के बाउंड्री का कार्य अपने कोष से करवाया और आगे भी मेरे तरफ से जो भी सहयोग होगा घंटी बाबा को दरबार को मिलता रहेगा। मौके पर भाजपा नेता धीरज सिंह, मंदिर निर्माण समिति के सचिव संजय कुमार सिंह, संजय सिंह खटाल, रणविजय सिंह, जितेंद्र सिंह मोबाइल, पुजारी मुन्ना बाबा, शंभू नाथ प्रसाद, संजीव कुमार सिंह, सांसद प्रतिनिधि संजय कुमार सिंह,भृगुनाथ सिंह, दीपनारायण सिंह, प्रेमचंद सिंह समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।