लालू यादव के सबसे करीबी नेता पूर्व विधायक भोला यादव के ठिकानों पर छापेमारी, कई मामलों का खुलेगा राज

न्यूज4बिहार/दरभंगा: राजद सुप्रीमो लालू यादव के सबसे करीबी नेता माने जाने वाले पूर्व विधायक भोला प्रसाद यादव के ठिकानों पर आयकर विभाग ने बुधवार को छापेमारी की है. भोला यादव के दरभंगा जिला स्थित पैतृक घर कपछाही और बहादुरपुर स्थित आवास पर छापा मारा गया है. आयकर विभाग की सात सदस्यीय टीम ने बुधवार सुबह भोला के अलग अलग ठिकानों पर छापेमारी की। भोला यादव राजद के उन नेताओं में शामिल हैं जिन्हें लालू यादव का खास माना जाता है। इसलिए उन्हें लालू का हनुमान भी कहा जाता है। भोला यादव वर्ष 2015 में बहादुरपुर विधानसभा सीट से विधायक चुने गए थे।वहीं वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में वे हायाघाट से राजद के टिकट पर उतरे थे लेकिन उनकी हार हो गई थी।चारा घोटाला सहित कई अन्य मामलों में फंसे लालू यादव पिछले कुछ वर्षों के दौरान जब भी अदालत या अस्पताल आदि में आते-जाते दिखे हैं उस दौरान भोला यादव साये की तरह उनके साथ दिखते रहे हैं। ऐसे में लालू यादव की तरह ही भोला यादव पर भी आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप है।

सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग ने इसी को लेकर भोला यादव के ठिकानों पर छापेमारी की है। आयकर विभाग की 7 सदस्यीय टीम सुबह सुबह एक साथ भोला यादव के सबी ठिकानों पर पहुंची और उसे खंगालना शुरू किया। लालू यादव के करीबी होने के कारण भोला यादव को उनका बड़ा राजदार भी माना जाता है. ऐसे में भोला यादव पर बड़ी सम्पत्ति अर्जित करने की बातें कही जाती रही हैं। पिछले करीब 20 सालों से लालू यादव के साथ दिखने वाले भोला यादव न सिर्फ लालू यादव और राबड़ी देवी बल्कि तेजस्वी यादव के भी करीबी बताए जाते हैं. हाल ही में जब लालू यादव का स्वास्थ्य बिगड़ा और उन्हें दिल्ली के एम्स में दाखिल कराया गया तब भी उनके साथ दिल्ली जाने वालों में तेजस्वी यादव और अन्य लालू परिवार के सदस्यों के आलावा भोला यादव शामिल थे।

error: Content is protected !!