बाढ़ के पानी से ध्वस्त एस एच 90 का हुआ मरम्मत, आवागमन हुआ शुरू

बाढ़ के पानी से ध्वस्त एस एच 90 का हुआ मरम्मत, आवागमन हुआ शुरू

कन्हैया कुमार सिंह कि रिपोर्ट(सारण)

मशरक – महाराजगंज रेलवे लाईन पर मशरक थाना क्षेत्र के चैनपुर गांव के पास रेल ओभर ब्रीज के नीचे बाढ़ का पानी छपरा मशरक महम्मदपुर एस एस 90 पर चढ़ गया था जिससे पिछ्ले एक महीने से ज्यादा समय से आवागमन पूरी तरह ठप्प पड़ा था। स्थानीय जनप्रतिनिधियों समेत ग्रामीण इलाकों के लोगों ने सरकार और जिलाधिकारी सारण से मांग की थी सड़क को कम से कम चलने लायक बनाया जाए। सोमवार को में. मां कन्ट्रसन दुमदुमा दाउदपुर के टेंडर मे बाढ़ से डूबे सड़क की ईंट, मेंटल गिराकर मरम्मत करने की शुरुआत की गई। मौके पर कंपनी के प्रो चंदन कुमार ने बताया कि सड़क बाढ़ के पानी से क्षतिग्रस्त हो गया था वही कंपनी दो दिनों के अन्दर सड़क को पहले ईट टुकड़ा भरकर, उसके उपर से मेटल गिराकर सड़क का पिचीकरण कर दिया जाएगा।जिससे लोगों को आने जाने में कोई दिक्कत महसूस नही होगी। मौके पर उप प्रमुख साहेब हुसैन उर्फ टुनटुन ने बताया कि एस एच-90 पर बाढ़ का पानी प्रवेश कर रेलवे पुल के नीचे सड़क क्षतिग्रस्त हो गया था जिससे आने जाने का मार्ग ठप्प हो गया था। जिलाधिकारी सारण से मांग की गई थी कि सड़क का मरम्मत कराकर चलने लायक बनाया जाए जिसपर जिलाधिकारी ने मांगों पर विचार करतें हुए सड़क को मरम्मत कराया। युवा समाजसेवी कुंदन सिंह ने बताया कि बाढ़ के पानी से डुबे सड़क से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था यह सड़क छपरा -पटना को गोपालगंज और यूपी गोरखपुर को जोड़ती है जिससे प्रतिदिन हजारों की संख्या में बड़े छोटे वाहनों का आना जाना लगा रहता है।वही सड़क की मरम्मत से लोगों में खुशी देखी गई वही आने जाने वालों को सहूलियत होगी। प्रखंड मुखिया संघ अध्यक्ष व पूर्वी मुखिया प्रतिनिधि अमर सिंह बताते हैं कि बाढ़ के पानी से क्षतिग्रस्त सड़क से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में स्थानीय लोग इस डूबने भर के पानी को पार कर आते जाते रहते थे।वही गांव के युवाओं द्वारा जुगाड़ के प्लास्टिक ड्रम के नाव से सैकड़ों लोगों को रोज जान जोखिम में डालकर छाती भर पानी मे डियूटी करनेवाले एवं रोगी छोटे बच्चे सहित अन्य राहगीरों को इस खतरे से पार कराते थे। सड़क की मरम्मत होने से लोगों में खुशी देखी गई।

error: Content is protected !!