जहरीली शराब कांड पर सबसे बड़ा खुलासा, थाने से चोरी हुई स्प्रीट के कारण गई लोगों की जान!

न्यूज4बिहार:सारण में जहरीली शराब कांड के बीच अब तक का सबसे बड़ा खुलासा . दरअसल जहरीली शराब कहीं और से नहीं आई बल्कि थाने से गायब हुई है. इस बात की जानकारी अब राज्य सरकार तक पहुंच गई है और इसकी जांच भी की जा रही है. दरअसल मसरख थाना में उत्पाद विभाग ने भारी मात्रा में कच्चा स्प्रिट जप्त कर उसे नष्ट करने के लिए रखा था. लेकिन, प्रशासनिक अधिकारी इसे नष्ट करना भूल गए. इस स्प्रीट में से भारी मात्रा में से स्प्रिट गायब है.मिली जानकारी के अनुसार ड्रम से कई के ढक्कन गायब है जिनमें स्परिट नहीं है. ऐसे में ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि यह शराब थाने से ही गायब हुई है जिससे लोगों की लगातार मौत हो रही है। लोगों की मौत हुई है उन्होंने बताया कि मशरक बाजार में ही उन्होंने यह शराब खरीदी थी. इस मामले की जांच करने राज्य सरकार के उच्च स्तरीय टीम भी छपरा पहुंच गई है जिन्होंने थाने में रखे शराब का जायजा लिया जहां भारी पैमाने पर अनियमितता पाई गई।जब शराब को खुले में रखा गया था जिसमें से कई ड्रम गायब पाए गए.मिली जानकारी के अनुसार ड्रम से कई के ढक्कन गायब है जिनमें स्परिट नहीं है. ऐसे में ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि यह शराब थाने से ही गायब हुई है जिससे लोगों की लगातार मौत हो रही है। लोगों की मौत हुई है उन्होंने बताया कि मशरक बाजार में ही उन्होंने यह शराब खरीदी थी. इस मामले की जांच करने राज्य सरकार के उच्च स्तरीय टीम भी छपरा पहुंच गई है जिन्होंने थाने में रखे शराब का जायजा लिया जहां भारी पैमाने पर अनियमितता पाई गई।जब शराब को खुले में रखा गया था जिसमें से कई ड्रम गायब पाए गए.ज्वाइंट कमिश्नर कृष्णा पासवान और डिप्टी सेक्रेटरी उत्पाद विभाग निरंजन कुमार इस मामले की जांच करने मसरख पहुंचे. हालांकि उन्होंने मीडिया से बात नहीं किया. अधिकारिक सूत्रों से मिली खबर के अनुसार इस थाने के दो चौकीदार शक के दायरे में हैं जिनमें जदु मोड़ इलाके का चौकीदार भी शामिल है जिसे निलंबित कर दिया गया है. जदु मोड़ के पास और उसके संबंधित इलाके में भारी संख्या में जहरीली शराब से लोग बीमार हुए। जिनमें अब तक लगभग 75 लोगों की मौत हो गई है.ऐसे में इस मामले में पुलिस कर्मियों की लापरवाही कहें या फिर अपराधिक लापरवाही. लेकिन कहीं ना कहीं यह बड़ी चूक है और इसके बाद सरकार ने सभी थानों में जब्त शराब की जांच शुरू कर दी है. फिलहाल इस पूरी घटना के बाद डीएम और एसपी ने कहा है कि इसमें जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.गौरतलब है कि छपरा में जहरीली शराब कांड में अब तक 75 लोगों की मौत हो गई है जबकि कई लोग अभी बीमार है. मौत के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं. इस बीच यह मामला सामने आया जिसे सनसनी फैल गई है. थाने में रखे शराब से अगर मौत की पुष्टि होती है तो इसमें कई अधिकारी नपेंगे. लेकिन, बड़ा सवाल ये है कि अगर 2008 से लेकर अभी तक जब्त किए गए जहरीली शराब को खुले आसमान के नीचे क्यों रखा गया है जिसमें से गायब शराब से इतनी बड़ी संख्या में मौत की आशंका व्यक्त की जा रही है।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer