कचहरी स्टेशन पर मौर्य एक्सप्रेस ट्रेन रोकने के मामले में छात्र नेताओं की हुई पेशी*

इंटरमीडिएट परीक्षाफल में गड़बड़ी के खिलाफ आंदोलन मामले में छात्र नेताओं को मिली राहत।

न्यूज4बिहार : इंटरमीडिएट परीक्षाफल 2017 में भारी गड़बड़ी के खिलाफ छात्र संगठन एआईएसएफ, एसएफआई, के संयुक्त तत्वावधान में छपरा कचहरी स्टेशन पर मौर्या एक्सप्रेस ट्रेन रोककर पटरी पर सैकड़ों छात्रों ने उग्र प्रदर्शन किया था. जिसपर आरपीएफ पुलिस निरीक्षक छपरा ने रेल थाना कांड संख्या-1401/17 दर्ज किया था. जिसमें चार छात्र नेताओं, एसएफआई राज्य अध्यक्ष शैलेंद्र यादव, एआईएसएफ राज्य सह सचिव राहुल कुमार यादव, डीवाईएफआई राज्य सदस्य विकास तिवारी, एआईएसएफ जिला सचिव अमित नयन, समेत 50 अज्ञात के खिलाफ रेलवे एक्ट 174, 145,146, 147 के तहत मामला दर्ज किया था. उपरोक्त मामले में न्यायिक दंडाधिकारी रेलवे सोनपुर ने संज्ञान लेते हुए नामजद चारों अभियुक्तों को समन जारी किया था।

न्यायिक दंडाधिकारी रेलवे सोनपुर ने जमानत अर्जी स्वीकार करते हुए राहत दी है। इंटरमीडिएट परीक्षाफल 2017 में भारी गड़बड़ी के खिलाफ सारण जिला मुख्यालय में नगरपालिका चौक सड़क पर उग्र प्रदर्शन व छपरा कचहरी स्टेशन पर मौर्य एक्सप्रेस रोककर ट्रेन के आगे पटरी पर सैकड़ों छात्रों ने उग्र प्रदर्शन कर इंटरमीडिएट परीक्षाफल में भारी गड़बड़ी पर जोरदार आंदोलन किया था, जिसके बाद बिहार सरकार बैकफुट पर आई और इंटरमीडिएट परीक्षाफल की गड़बड़ी दूर कर फिर से परीक्षाफल प्रकाशित की थी। एक अन्य मामले में जीरादेई सिवान के माले विधायक अमरजीत कुशवाहा भी न्यायिक दंडाधिकारी रेलवे सोनपुर की पेशी हुई और न्यायालय ने उन्हें भी राहत देते हुए बड़ी कर दिया।

error: Content is protected !!