मशरक में प्रेमिका से मिल अपने हत्या की साजिश रचने वाला प्रेमी तीसरे दिन जिंदा गिरफ्तार।

कन्हैया कुमार सिंह कि रिपोर्ट सारण ।

मशरक थाना क्षेत्र के अरना बलुआ टोला गाँव मे शनिवार की रात प्रेम प्रसंग में हत्याकांड की दर्ज कराई गई प्राथमिकी का खुलासा मंगलवार को किया गया। वही मामलेे में मढ़ौरा डीएसपी इंद्रजीत बैठा ने बताया कि मामलेे में जांच-पड़ताल की जा रही है इस षड्यंत्र में शामिल और लोगों को गिरफ्तार कर कांड का उद्भेदन किया जाएगा। वही अपने साथियों एवं प्रेमिका के संग मिलकर अपने ही हत्या की साजिश रचने वाला प्रेमी 22 वर्षीय मुन्ना साह को डीएसपी मढौरा के नेतृत्व में मशरक प्रभारी थानाध्यक्ष राजेश कुमार रंजन एवं दरियापुर थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने जिंदा बरामद करने में शानदार सफलता पाई। कड़ाके की ठंड में तीन दिनों से पुलिस ने परिजनों के कहने पर इसे मृत समझ शव की तलाश में मशरक के सीमावर्ती थाना के अलावे सीवान के बसन्तपुर एवं गोपालगंज के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के गांव चवर और नदी के किनारे को तलाशा। सारण पुलिस कप्तान संतोष कुमार के निर्देश पर पुलिस ने मोबाइल ट्रैक किया फिर दरियापुर थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने युवक को दबोच लिया। डीएसपी मढौरा इंद्रजीत बैठा एवं प्रभारी थानाध्यक्ष मशरक राजेश कुमार रंजन ने युवक को मंगलवार की दोपहर बाद दरियापुर से मशरक लाकर पूछताछ शुरू की। थाना में रखे गए प्रेमिका के साथ परिजनों के चेहरे पर चमक दिखी। मामलेे में पहले से हिरासत में एक शिक्षिका सहित पांच सभी शुरू से ही अपने को निर्दोष बता रहे थे। लेकिन पुलिस की हिरासत में मौजूद प्रेमिका इन लोगो पर ही लगातार अपने प्रेमी के साथ मारपीट करने का आरोप लगा रही थी। सूत्रों की माने तो युवक ने अपने दोस्तों संग मिलकर चांद बरवा गांव निवासी चार चक्का कार सवार को किराये पर लेकर ब्लड बैंक से खून लाकर जहाँ तहाँ खून गिरा घटना को हत्या का रंग दिया। हालांकि इसका खुलासा फोरेंसिक टीम के जाँच रिपोर्ट के बाद ही हो पायेगा। हालांकि पुलिस इन सभी बिंदुओं पर जाँच करते हुए संवाद प्रेषण तक युवक से पूछताछ में जुटी है। साथ ही पुलिस प्रेमी और भाई ,कार चालक और दो अन्य लोगो को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हत्या के षड्यंत्र को लेकर पहले दिन ही युवक के भाई एवं युवती की माँ द्वारा मशरक थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। युवक के भाई अरुण कुमार की ओर से ने दर्ज कराई गई प्राथमिकी में कहा है कि उसका छोटा भाई मुन्ना आर्केस्ट्रा देखने गया तो लौट कर घर नही आया तो अगले सुबह चन्द्रमा साह के घर के पास खून का धब्बा दिखा फिर टुनटुन साह के बन्द घर के अंदर खून दिखा। संजू कुमारी पिता धर्मनाथ ठाकुर के भाई ने एक माह पूर्व अपनी बहन से मिलने को मना कर जान मारने की धमकी दी थी इन्ही लोगो ने हत्या कर शव गायब कर दिया है यह आरोप लगाया। प्राथमिकी में कुल 13 लोगो को नामजद किया गया है । वही दूसरी ओर धर्मनाथ ठाकुर की पत्नी एवं संजू की माँ कलावती देवी ने अरुण साह सहित 4 लोगो द्वारा घर मे घुसकर जबरन मारपीट कर बुरी तरह घायल करने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्रेमी और प्रेमिका की मंशा अपने पड़ोसी को हत्याकांड में फंसाने की थी। षड्यंत्रकारी मामले में प्राथमिकी दर्ज करा पुलिस को गुमराह करने की चर्चा से चारों तरफ खूब गहमागहमी रही। वैसे मामलेे में पुलिस जांच पड़ताल कर रही है।

 

 

error: Content is protected !!