विरोधियों पर जमकर बरसे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

विरोधियों पर जमकर बरसे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

रिपोर्ट- रूपेश कुमार राज

न्यूज4बिहार:भागलपुर में किसान चौपाल, किसान सम्मेलन सह कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया । सम्मेलन को संबोधित करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह। केंद्रीय मंत्री ने प्रेस वार्ता में किसान बिल के समर्थन में अपना पक्ष रखा । वहीं विरोधियों पर भी जमकर बरसे। गिरिराज सिंह ने कहा कि विपक्षियों ने कभी किसानों की चिंता नहीं की। एक बार छोटा सा कर्ज माफ किया तो ढिंढोरा पीटने लगे।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री 6000 रुपया हर किसानों को खाते में दे रहे हैं। किसानों के मदद के लिए कभी कांग्रेस आगे नहीं आई लेकिन भ्रम और अराजकता पैदा कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी के विरोध में बोलने के लिए इनके पास शब्द नहीं है और यह कैसा आंदोलन है जिसमें खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगते हैं। जिस आंदोलन में सरजील इमाम की चर्चा हो रही है।
जिस आंदोलन में सीएए के आंदोलनकारी सम्मिलित है यह आंदोलन नहीं बल्कि मोदी सरकार को स्थिर करने की साजिश है। यह राजनीतिक दल किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की कोशिश कर रही है।
उन्होंने कहा कि पंजाब के किसान सुलझे हुए हैं किसानों में भ्रम नहीं है। विरोध प्रदर्शन मंडियों पर दलाली करने वाले लोग और कांग्रेस के लोग कर रहे हैं। वही पत्रकारों के दूसरे सवाल पर गिरिराज सिंग भड़क गए।उन्होंने पत्रकारों के किसी भी सवालों का जवाब नहीं दिया।
इस दौरान भारत की बढ़ती आबादी को लेकर जनसंख्या नियंत्रण पर मंत्री ने एक बड़ा बयान दिया है।जिसमें उन्होंने कहा कि भारत की जनसंख्या नियंत्रण को लेकर संसद से सड़क तक आंदोलन करना चाहिए,और इस आंदोलन में लोगों के अंदर एक जज्बा होना चाहिए।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत की आबादी इतनी हो गयी है कि दिल्ली से लेकर श्मशान घाट तक लोगों की भीड़ रहती है।वहीं जनसंख्या नियंत्रण को लेकर सभी लोगों को पार्टी,जाति-धर्म ,समुदाय,से उपर उठकर इसकी लड़ाई संसद से लेकर सड़क तक लड़नी चाहिए,आगे उन्हौंने कहा कि हिन्दू,मुस्लिम,सिख,ईसाई सभी धर्म के लोगों को जनसंख्या नियंत्रण को लेकर उक्त लड़ाई में भागीदारी होनी चाहिए। प्रेस वार्ता के दौरान भागलपुर भाजपा के जिला अध्यक्ष रोहित पांडे, कार्यकारी जिलाध्यक्ष संतोष कुमार उपाध्यक्ष रोशन सिंह जिला मीडिया प्रभारी इंदु भूषण झा पंकज सिंह समेत भाजपा के कई कार्यकर्ता मौजूद थे।